tech

देश का पहला ई-टैक्टर: सोनालिका टाइगर इलेक्ट्रिक लॉन्च; कंपनी का दावा-डीजल टैक्टर की तुलना में इस चलाने की लागत एक-चौथाई, कीमत 6 लाख भी नहीं

  • Hindi News
  • Tech auto
  • Sonalika Tiger Electric Launch; Company Claims One fourth The Cost Of Running This Compared To Diesel Tractors, Price Not Even 6 Lakhs

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • बैटरी को रेगुलर होम सॉकेट से 10 घंटे में और फास्ट चार्जर से केवल 4 घंटे में फुल चार्ज किया जा सकता है
  • दो टन ट्रॉली का संचालन करते समय इसमें 8 घंटे तक बैटरी लाइफ मिलेगी, टॉप स्पीड-24.93kmph

इस समय जब ऑटोमोबाइल उद्योग का विद्युतीकरण भारतीय बाजार में थोड़ा धीमा है, विशेष रूप से यूरोप और अमेरिका की तुलना में, उस दिशा में प्रगति लगातार हो रही है। इस समय जब हम अभी भी कुछ पैसेंजर इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लॉन्च का इंतजार कर रहे हैं, सोनालिका ने आगे बढ़कर भारत के पहले इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर – टाइगर इलेक्ट्रिक को पेश किया है।

4 घंटे में होगा फुल चार्ज
सोनालीका टाइगर इलेक्ट्रिक को उसी ट्राइड एंड टेस्टेड प्लेटफॉर्म पर बनाया गया है जो उसके रेगुलर ट्रैक्टर में मिलते हैं। टाइगर इलेक्ट्रिक के पावरट्रेन में IP65 प्रोटेक्शन के साथ 25.5 किलोवाट, नैचुरल कूलिंग, कॉम्पैक्ट बैटरी शामिल है। बैटरी को रेगुलर होम सॉकेट से 10 घंटे में और फास्ट चार्जर का उपयोग करके केवल 4 घंटे में चार्ज किया जा सकता है, जो फ्यूल पंपों के चक्कर लगाने की आवश्यकता को समाप्त करता है।

होंडा का नोएडा प्लांट बंद:यहां सिविक और सीआर-वी का होता था प्रोडक्शन

24.93kmph की टॉप स्पीड मिलेगी
जर्मनी में तैयार किए गए Etrac इलेक्ट्रिक मोटर में जीरो आरपीएम पर भी हाई पीक टॉर्क प्रदान करने में सक्षम है, जो इसे फील्ड ऑपरेशन के लिए उपयुक्त बनाता है। कंपनी का दावा है कि इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर की रनिंग कॉस्ट एक डीजल ट्रैक्टर को चलाने की लागत से 1/4th है। कंपनी का दावा है कि- इसमें 24.93kmph की टॉप स्पीड मिलती है, और दो टन ट्रॉली का संचालन करते समय एक फुल बैटरी चार्ज 8 घंटे तक की चल सकती है।

भारत में 2027 तक हर साल 63 लाख ई-व्हीकल बिकेंगे, ई-रिक्शा की डिमांड तेजी से बढ़ेगी

पंजाब के होशियारपुर प्लांट में बनाया जाएगा

  • सोनालिका ग्रुप के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर, श्री रमन मित्तल ने कहा, “जैसे-जैसे दुनिया पर्यावरण के अनुकूल पहलों की ओर बढ़ रही है, सेगमेंट भर के इलेक्ट्रिक वाहनों को उत्सुकता से उन वाहनों के विकल्प के रूप में देखा जा रहा है, जो ईंधन पर चलते हैं। सोनालिका का फील्ड रेडी टाइगर इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर हमारी प्रतिबद्धता है कि हम कल एक हरियाली के प्रति भारत के अभियान को तेज करें और 2030 तक ईवी को शुरू करने के भारत सरकार के महत्वाकांक्षी कदम के अनुरूप रहें।”
  • निर्माता ने यह भी कहा है कि यह वैश्विक बाजारों से भारत में लेटेस्ट इनोवेशन को लाने, कृषि उत्पादकता और लाभप्रदता बढ़ाने के लिए तकनीकी विकास प्रदान करना चाहता है। टाइगर इलेक्ट्रिक को पंजाब में ब्रांड के होशियारपुर प्लांट में निर्मित किया जाएगा, जो इसे एक सच्चा मेक इन इंडिया प्रोडक्ट बनाता है।

बजाज ऑटो का नया प्लांट:कंपनी महाराष्ट्र के चाकन में 650 करोड़ रुपए का निवेश करेगी; 2023 से केटीएम, ट्रायम्फ, चेतक इलेक्ट्रिक का प्रोडक्शन होगा

कीमत 6.99 लाख भी नहीं
सोनालिका टाइगर इलेक्ट्रिक की बुकिंग देश भर में ओपन हो चुकी है। इसे 5.99 लाख रुपए के काफी अफोर्डेबल प्राइस के साथ उतारा गया है, जो रनिंग कॉस्ट को भी कम करेगा। नया ई-ट्रेक्टर निश्चित रूप से एक अत्यंत व्यावहारिक विकल्प की तरह लगता है, जो पर्यावरण के लिए भी बेहतर है।


Source link

Related Articles

Back to top button