tech

अलविदा 2020: फैमिली कार मारुति 800 से लेकर प्रीमियम होंडा सिविक तक, पिछले 10 सालों में बाजार से बाहर हुईं ये 20 पॉपुलर कारें; देखें लिस्ट

  • Hindi News
  • Tech auto
  • From Tata Nano To Honda Civic, These Top 20 Cars Discontinued This Decade [2011 20]

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • मारुति सुजुकी ने 2010 से 2020 के बीच चार अच्छी बिक्री वाले प्रोडक्ट्स बंद किए
  • होंडा भी अपने पॉपुलर प्रोडक्ट्स CR-V और सिविक को बंद करने के लिए चर्चा में है

इस समय कार निर्माता अपने नए प्रोडक्ट्स को तेजी से लॉन्च कर रहे हैं और अलग-अलग सेगमेंट में अपना किस्मत आजमा रहे हैं, लेकिन यह हमेशा काम करे ऐसा जरूरी नहीं है। एक प्राइस सेंसिटिव बाजार होने के नाते, सभी पहलुओं पर शानदार प्रदर्शन करने वाली वैल्यू फोर मनी कार लॉन्च करने का सीधा मतलब है कि आप भारतीय बाजार में सफल होने की राह पर है।

यदि प्रोडक्ट में दम नहीं है, तो कोई भी ऐसा निर्माता नहीं है जिसे बख्शा गया हो। यदि दूसरा कॉम्पीटिटर उस कीमत में एक बेहतर वैल्यू फोर मनी प्रोडक्ट दे रहा है तो बिक्री में भारी गिरावट होना निश्चित है और इस स्थिति में निर्माताओं के पास उस प्रोडक्ट को बंद करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है।

भारत में सबसे ज्यादा बिकती हैं मारुति-हुंडई की ये चार कारें, लेकिन सेफ्टी के मामले में हैं फिसड्डी

हमने अच्छी क्षमता वाली 20 ऐसी कारों की लिस्ट तैयार की है, जिन्हें इस दशक [2010-2020] भारतीय बाजार से बंद कर दिया गया। लिस्ट में उनकी लॉन्चिंग से डिस्कंटीन्यू होने तक की जानकारी दी गई है। नीचे दी गई टेबल में उन 20 कारों पर एक नजर डालें –

बाजार से बाहर हो गई ये पॉपुलर कारें…

  • मारुति सुजुकी ने 2010 से 2020 के बीच भारत में कम से कम 4 अच्छे बिक्री वाले प्रोडक्ट्स को बंद कर दिया है, जिसके पीछे एक से अधिक कारण है। मारुति सुजुकी 800 इस लिस्ट में शामिल होने वाली सबसे पुरानी कार है। इसकी पहली यूनिट दिसंबर 1983 में बाजार में आई थी और आखिरी 31 साल बाद जनवरी 2014 में।
  • 800 को डिस्कंटीन्यू करने के एक महीने बाद कंपनी ने ए-स्टार और जेन एस्टिलो को बंद करने का फैसला लिया और इन दो हैचबैक के रिप्लेसमेंट के तौर पर कंपनी ने करंट-जनरेशन ऑल्टो और सेलेरियो को उतारा गया था। 2007 में शुरू की गई SX4 सेडान ने भी बढ़ती प्रतिस्पर्धा का शिकार होकर अप्रैल 2014 में मारुति के लाइन-अप में सियाज के लिए रास्ता बनाया।
  • होंडा भी हाल ही में अपने जो पॉपुलर प्रोडक्ट्स CR-V और सिविक को बंद करने के लिए चर्चा में है। दोनों ही हाल के दिनों में अपने-अपने सेगमेंट में जगह बनाने में नाकाम रहे और इस महीने की शुरुआत में इन्हें बंद करना का फैसला लिया गया। CR-V नवंबर 2004 से बिक्री पर था, जबकि सिविक के 8वें और 10वें जनरेशन वर्जन क्रमशः जुलाई 2006 और मार्च 2019 में भारत में पेश किए गए थे, दोनों के बीच 7 साल का अंतराल था।
  • मोबिलियो एमपीवी को मार्च 2017 में खराब बिक्री के कारण बंद कर दिया गया था, इसके बाद फरवरी 2019 में ब्रियो को भी इसी कारण से बंद कर दिया गया था। होंडा एकॉर्ड हाइब्रिड और BR-V को बीएस 6 एमिशन नॉर्म्स का पालन करने के लिए अपडेट नहीं किया गया था और इसलिए 1 अप्रैल 2020 से शुरू होने वाली बिक्री के योग्य नहीं थे।
  • बीएस 6 एमिशन नॉर्म्स के कारण निसान ने भी अपनी दो कारों को बंद कर दिया गया, जो कार निर्माता की रोटी और मक्खन थे यानी माइक्रा और सनी। इन्हें क्रमशः जुलाई 2010 और सितंबर 2011 में लॉन्च किया गया था। दूसरी ओर, फिएट को अपने पुंटो और लीनिया को बंद करना पड़ा, दोनों को 2009 में लॉन्च किया गया था।
  • फोर्ड फिएस्टा सेडान को अक्टूबर 2005 में भारत में पेश किया गया था, और एक दशक बाद सितंबर 2015 में इसे बंद कर दिया गया था। जबकि फोर्ड ने अपना ध्यान अन्य उत्पादों की ओर स्थानांतरित कर दिया, एक अन्य अमेरिकी निर्माता ने अपना बैग पैक करने और भारतीय बाजार को पूरी तरह से छोड़ने का फैसला किया। शेवरले ने दिसंबर 2017 के बाद भारत में कारों की बिक्री बंद करने का फैसला किया और इसलिए, जनवरी 2010 में लॉन्च की गई बीट हैचबैक को बंद कर दिया गया।
  • टाटा मोटर्स ने हाल के वर्षों में अपने लाइन-अप को पूरी तरह से नया रूप दिया है, जिससे कार निर्माता भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाले वाहन निर्माता बन गए हैं। हालांकि टाटा ने इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए कई नई कारों को लॉन्च किया है, लेकिन कंपनी ने लाइनअप में जगह खाली करने के लिए कई कारों को बंद भी किया।
  • इंडिका टाटा की पहली कार थी, और इसे मूल रूप से जनवरी 1999 में लॉन्च किया गया था, और इसके सेडान वर्जन इंडिगो ने जनवरी 2003 में चार साल बाद अपनी शुरुआत की। अधिक आधुनिक रिप्लेसमेंट को स्पष्ट करने के लिए अप्रैल 2018 में दोनों कारों को बंद कर दिया गया था। जेस्ट को अगस्त 2014 में इंडिगो पर थोड़ा अधिक प्रीमियम सेडान के रूप में लॉन्च किया गया था, लेकिन टिगोर के साथ बदल दिया गया, टाटा ने अप्रैल 2019 में इसका उत्पादन रोक दिया।
  • मार्च 2008 में भारत की सबसे सस्ती कार के रूप में लॉन्च की गई नैनो को लॉन्च पर जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली। हालांकि, सुरक्षा चिंताओं ने कार को घटती बिक्री के साथ छोड़ दिया, कंपनी ने से फरवरी 2019 में बंद कर दिया था।

नई कार का है प्लान तो करिए थोड़ा इंतजार; नए साल के पहले महीने में ही लॉन्च हो रही हैं ये 7 कारें, देखें लिस्ट

बीएस 6 एमिशन नॉर्म्स लागू होने से लेकर शून्य बिक्री तक, पढ़िए 10 घटनाएं जिनकी वजह से सुर्खियों में रहा ऑटो उद्योग


Source link

Related Articles

Back to top button